Modi sarkar dwara chalaye gayi 20 yojnaye , मोदी सरकार द्धारा चलती जा रही 20 महत्वपूर्ण योजनाएं ।

मोदी सरकार द्वारा चलाई गई महत्वाकांक्षी योजनाएं ।

भारत सरकार द्धारा समय समय पर बहुत सी योजनए चालाई जाती है । बहुत सी योजनाएं मोदी सरकार द्धारा भी चलाई गई है जिनका आम जनता के साथ साथ मध्य परिवार वर्ग को भी काफी लाभ मिला है ।


1. प्रधानमंत्री कर्मयोगी मानधन योजना और प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना ।


प्रधानमंत्री कर्मयोगी मानधन योजना की घोषणा जुलाई 2019 को  की गई थी ।  इस योजना की शुरुआत मोदी सरकार ने कि थी जब केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2019 के बजट को पेश करते हुए की थी ।

यह योजना सरकार ने मध्य वर्गीय व्यापारियों के लिए शुरू की थी ऐसे व्यापारी जिनके पास GST no ho ।
इस योजना के तहत बहुत से व्यापारी को लाभ हुआ है  । मोदी सरकार ने अपने दूसरे शासन काल मै छोटे दुकानदारों और छोटे वयापारियों के लिए पेंशन और लोन जैसी सुविधाओ की घोषणा इस प्रोग्राम के तहत की थी ।

इस योजना के तहत छोटे से छोटा व्यापारी अपने  काम को बड़ा सकता है और लोन लेे सकता है जिसका फायदा भी बहुत से कारोबारियों ने लिया ।

इसके साथ ही एक और योजना को शुरू किया था जो की प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योयना है ।

इस योजना के तहत जब आपकी उम्र 60 वर्ष होने के बाद 3000 रुपए पेंशन का प्रावधान किया गया है इस योजना का लाभ केवल मधयवर्गिय व्यापारी और दुकानदारों को होगा  उनके पास GST no ho 



इस योजना के तहत छोटे छोटे दुकानदार और व्यापारी को सीधा लाभ मिला है ।

. 18 से 40 बर्ष के लोगो को इस योजना का लाभ मिलेगा

 यदि आप 18 बर्ष के है तो प्रति माह 55 रुपए का भुकतान करना होगा यह भुकतान आपको 60 बर्ष तक करना होगा जब आप 60 बर्ष के हो जायेगे तब आपको सरकार 3000 रुपए प्रतिमाह पेंशन देगी ।

यदि आप 29 बर्ष के है या इस से अधिक तो आपको 100 रुपए प्रतिमाह देने होंगे और 60 बर्ष की आयु के बाद सरकार आपको 3000 रुपए प्रतिमाह पेंशन देगी ।

. यति आपकी उम्र 40  है और आप इस योजना का लाभ लेना चाहते है तो आपको 200 रुपए प्रतिमाह देने होंगे और जब आप 60 के हो जायेगे तब सरकार आपको भी 3000 रुपए प्रतिमाह पेंशन देगी ।

इस योजना का लाभ पाने के लिए आपको ये सब बातो का भी ध्यान रखना पड़ेगा तभी आप इन योजनाओं का लाभ ले सकते है।


. आप भारत के नागरिक हो ।

. आपकी मासिक आए 15000 से अधिक ना हो ।

. आप के पास GST no ho 

. आपके पास बैंक मै सेविंग खाता हो ।

. आपकी उम्र 18 से 40 साल के बीच हो ।

. लाभ उठाने वाला व्यक्ति  EPFO  NPA  ESIC के अन्तर्गत कवर नहीं होना चाहिए । 

किन दस्तावेज की आवश्यकता होगी।


. आप के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है ।

. आप के पास moblie no hona भी जरूरी है ।

 केसे आवेदन करे .-


. इस योजना का लाभ उठाने के लिए आपको अपने नजदीकी सी एस सी केंद जाना होगा और अपने साथ आधार कार्ड बैंक कि पास बुक और moblie फोन को साथ अवश्य लेे जाए और साथ मै आपके खाते का IFSC code hona अनिवार्य है जो कि आपकी बैंक पास बुक मै होगा ।

इस तहत से आप इस योजना का लाभ उठा सकत
 है और 60 बर्ष की आयु होने के बाद आप फिर 3000 रुपए की पेंशन हर महीने पा सकेगे ।

योगी सरकार की योजनएं Up Agriculture kisan sewa yojna

2.प्रधानमत्री किसान  सम्मान निधि योजना ।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की घोषणा 1 फरवरी 2019 को आए आम बजट मै की गई थी इस योजना के तहत छोटे किसानों को जिनकी 2 हेक्टेयर से कम ज़मीन है जिस पर वो कृषि करते हो उन किसानो को इस योजना का सीधा लाभ मिल रहा है उनको प्रतिं वर्ष 6000 हज़ार की आर्थिक सहायता दी जा रही है ।

इस योजना के माध्यम से सरकार सीधे किसनों के बैंक खातों पर पैसे डाल रही है और बहुत से किसानो को इस योजना का लाभ मिल रहा है 

इस साल जब इस योजना के एक बर्ष पूरे हुए तो सरकार ने इस योजना के लिए एक ऐप को भी लॉन्च किया है 

किसानो को केसे और कब कब पैसा मिलता है 


इस योजना के अंदर जितने भी किसान रजिस्टर है सरकार उनको साल मै तीन किश्तों मै पैसा डे रही है 
सरकार हर किश्त मै 2000 हज़ार रुए सीधे किसानो के खाते मै डाल रही है ।जिसका लाभ सीधे किसानो को मिल रहा है । पैसा किसानो के खाते मै सीधा आता है इस से किसानो को काफी लाभ मिलता है और उनका समय भी बच जाता है ।

इस योजना का एक ही उद्देश्य है देश के छोटे किसानों की आर्थिक मदद करना ताकि वो अपनी कृषि के लिए बीच आदि लेे सके और अन्य चीजें लेे सके जिसकी आवश्यकता खेतीबाड़ी मै पड़ती है । किसान इस राशि को अपनी ज़रूरत के अनुसार खर्च कर सकता है ।

कोन कोन किसान इस योजना के अंतर्गत नहीं आते है ।


. अगर परिवार का कोई सदस्य किसी संवैधानिक पद पर हो या रहा चुका हो 

. केंद्र सरकार और राज्य सरकार के वर्तमान या पूर्व  मै कोई कर्मचारी रहा हो 

. ऐसे सभी कर्मचारी जिनको रिटायरमेंट के बाद 10000 से अधिक पेंशन मिलती हो 

. डाक्टर इंीनियर ,वकील , चार्टर्ड अकाउंटेंट जैसे पेशेवर लोग इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते है ।

इस योजना का लाभ केवल वही किसान उठा सकते है जिनके पास 2 हेक्टेयर से कम खेती लायक ज़मीन हो इस योजना के अंतर्गत बड़े किसान नहीं आयेगे जिनके पास 2 हेक्टेयर से अधिक जमीन हो ।
यह योजना केवल छोटे किसानों के लिए है । 

इस योजना के अंतर्गत लगभग 7.63 करोड़ किसानो को लाभ हुआ है ।
इस योजना का लाभ लेने के लिए आप पी एम किसान पोर्टल मै जा सकते है वनह पर इसकी पूरी जानकारी के सकते है ।

इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसान के पास बैंक खांता होना और मोबाईल होना अनिवार्य है 
और साथ ही साथ आपके पास आधार कार्ड होना भी जरूरी है तभी आप इस योजना का लाभ उठा पाएंगे  ।

3. डिजिटल इंडिया 


 डिजिटल इंडिया की शुरुआत 1जुलाई 2015 को हुए थी ।
यह भारत सरकार द्वारा चलाई गई योजना मै से एक मुख्य योजना है इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री जी ने  अनिल अंबानी, अजीज प्रेमजी , सायरस मिस्त्री जैसे बड़ी हस्तियों के साथ मिलकर 1 जुलाई 2015 को की थी ।

जिसका सिर्फ एक ही उद्देश्य है भारत को पूरी तरह से डिजिटल करना है और भारत को आगे लेे जाना है ।

डिजिटल इंडिया के अंतर्गत कुछ योजनाएं चलाई जा रही है ।


 . ब्रांड बेंड हाइवे की सुविधाएं 
  यानी इस योजना के अंतर्गत भारत के सभी गावो को इंटरनेट के से जोड़ा जाए जिसके लिए जगह जगह गावो गावो तक फाइबर ऑप्टिक्स केवल को बिछा का रहा है कन्ही तो यह काम हो भी चुका है और लोगो को इसका लाभ भी मिला है jnha रहा है vnha भी काम जल्द शुरू होगा और हो रहा है ।
इस योजना का लक्ष्य है हर जगह काम से कम 100 एम बी पी एस कि स्पीड से इंटरनेट दे ।इसका मतलब है कि सरकार घर घर तक इंटरनेट पहुचां चाहती है ताकि लोगो को सरकार की हर एक योजना का पता चले और हर एक जहग भारत की डिजिटल हो यही डिजिटल इंडिया का उद्देश्य है हर आदमी तक इंटरनेट जैसी सुविधाओ को पहुंचना ।

शहरों मै तो लगभग सबके पास मोबाइल होगे लेकिन गावो मै ऐसा नहीं होता है गावो मै सभी के पास मोबाइल नहीं होता है सरकार इस योजना के माध्यम से चाहती है कि सभी के पास मोबाइल हो जिस से वो इंटरनेट इस्तेमाल करे और ई बैंकिंग जैसी सुविधाओ का लाभ ले पाए 

और पूरा भारत इस तरह से डिजिटल हो पाए । सरकार का यही एक लक्ष्य है कि भारत का हर एक व्यक्ति मोबाइल से ही अपने लेन देन्न करे ताकि डिजिटल इंडिया को बढ़ावा मिले साथ साथ ही इस तरह से बैंकिंग सिस्टम पर भी बोझ काम पड़ेगा और समय की बचत अलग से होगी ।

इस योजना के माध्यम से गावो के सभी स्कूलों , दफ्तरों ,अस्पतालों को राजधानी से जोड़ा जाएगा ।
 एन मै से बहुत से इलाकों मै काम हो चुका है jnha रहा है vnha भी काम जल्द होगा 

डिजिटल इंडिया के तहत इन चीजों पर विशेष ध्यान रखा जा रहा है ।


. सभी लोगो को टेलिफोन की सुविधाओं से जोड़ना।

. सार्वजनिक इंटरनेट एक्सेस कार्यक्रम के तहत इंटरनेट सेवाएं मुहैया कराना ।

.  ई गवनैस के तहत तकनीक के माध्यम से शासन प्रशासन मै सुधार लाना ।

. ई क्रांति के तहत सभी सेवाओं को इलेक्ट्रॉनिक रूप मै लोगो तक पहुंचना । 

. लोगो तक जानकारियां आसनी से पहुंचना।

. सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में और अधिक नौकरियां पैदा करना 

इस योजना से सरकार को भी काफी फायदा भी होगा अगर इसे पूरी तरह से लागू किया जाए डिजिटल इंडिया होगा तो अभी अपने काम को आसानी से कर पाएंगे जिस से सभी को आसानी रहेगी और सबका काम आसान होगा और सभी का समय भी बचेगा 
इस योजना को और अधिक विस्तार करने के लिए सरकार ने बहुत सारी ऐप भी लांच की है जिसका सबसे बड़ा उदाहरण भीम ऐप है 
ऐसे ही हर एक डिपार्मेंट कि अपनी अपनी ऐप है जिस से लोगो को सुविधाएं आसानी से मिले ।

देश को डिजिटल रूप से विकसित करने के लिए और आई आई टी संस्थानों मै सुधार करने के लिए डिजिटल इंडिया की शुरुआत की गई है
इस अभियान के तहत निम्न योजनाएं को भी लागू किया गया है 

डिजिटल लॉकर 

राष्टीय छात्रवृति पोर्टल 

ई स्वास्थ्य 

ई शिक्षा 

 ई साइन 
आदि को शुरू इस कार्यक्रम के साथ किया था ।



4. प्रधानमंत्री जन धन योजना ।


प्रधानमंत्री जन धन योजना की शुरुआत 28 अगस्त 2014 को प्रधानमत्री जी ने कि थी इस योजना का केवल एक ही उद्देश्य था सरकार द्धारा संचालित योजनाओं का लाभ आम लोगों तक सीधे उनके बैंक खातों तक पहुंचे ताकि इस से भ्रष्टाचार को भी काम किया जा सके ।

इस योजना के शुरू होते जी पहले दिन इस योजना के अंतर्गत 1.5 करोड़ खाते खुल गए थे  इस योजना के तहत हर खाता धारक को 10000 रुपए दुघर्टना बिना से कवर किया जाएगा यानी ।
 यह खाता zero balance ke sath भी खोला का सकता है । 
अगर अपने यह खाता ज़ीरो बलैंस के साथ भी खोला है तब भी आपको एक लाख तक का दुघर्टना बिमा मिलेगा ।

और साथ ही साथ 3000 रुपए बीमा धारक के नोमनी को भी दिया जाता है अगर बीमा धारक की दुघर्टना वश मृत्यु हो जाती है 

कौन खोल सकता है खाता ।


इस योजना के माध्यम से भारत का हर एक नागरिक खाता खोल सकता है । इस योजना के तहत 10 बर्ष के नीचे के बच्चें का खाता भी खोला जा सकता है ।
जिस के पास सरकारी अधिकारी द्वारा सत्यापित आइडेंटिटी प्रूफ हो बह भी खाता खोल सकता है । 

खाता खोलने के लाभ 


. आपके जमा राशि पर ब्याज मिलेगा 

. एक लाख रुपए का दुर्घटना बीमा 

. आप ज़ीरो balance se भी खाता चालू रख सकते है ।

. सरकार की योजनाओं का लाभ सीधा इन खातों मै मिलेगा बिना किस देरी के केसे प्रधानमंत्री श्रम योजना आदि का लाभ किसानो को इन खातों मै मिलेगा ।

. 6 माह के बाद इन खातो के संतोषजक परिचालन के बाद ओवर ड्रफ्ट की सुविधा दी जाएगी ।

. एन खातों मैपेसे निकालने ,जमा करने , फंड ट्रांसफर , मोबाइल बैंकिंग जैसी सुविधाएं फ़्री दी जाती है ।

जन धन खातों के लिए जरूरी डक्यूमेंट -

 यदि आपके पास आधार कार्ड है तो सबसे उत्तम है । मगर अगर नहीं है तो आपके पास इन मै से कोई एक चीज अवश्य हो 

मतदान पहचान प्रत 

ड्राइविंग लाइसेंस 

पासपोर्ट 

नरेगा कार्ड 
 और साथ मै आपके दो पासपोर्ट साइज फोटो होना ज़रूरी है ।

 केसे खोले जन धन अकाउंट 


जन धन योजना का लाभ उठाने के लिए आपको बैंक मै खाता खोलना पड़ेगा 

उसके लिए आपको किसी भी सरकारी बैंक मै जाना होगा । और vnha से जन धन योजना वाला फॉर्म भरना होगा उसमे मांगे गए दस्तावेज को उसके साथ जमा करना होगा और अपने फोटो भी उसी मै चिपकने होगे ।

और उसको पूरी तरह से भर कर आप उसे वापिस बैंक मै दे दे और अधिकारी उसकी जांच कर के आपका खाता खोल देगा अगर सब सही रहा उसमे और इसमें आपकी अपनी मर्जी है खाते। मै आप पैसे डालने चाहते हो या नहीं ये आप पर निर्भर होगा इसके लिए बैंक आपको फोर्स नहीं कर सकता कि आप पैसे डाले ही ।


5. स्वच्छ भारत अभियान 


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा स्वच्छ भारत योजना का शुभारंभ 2 अक्टूबर 2014 को किया गया था इस योजना की शरूआत महत्मा गांधी जी की ज 150 वीं जयंती पर किया गया था । 

वैसे यह योजना की घोषणा पिछली सरकार द्धारा की गई थी जो कि निरमन भारत योजना थी जिसका नाम बदल कर फिर  सवच्छ भारत अभियान रखा गया । 
वैसे इसकी मंजूरी 24 सितम्बर 2014 को दी गई थी पर ऐसे फिर लागू 2 अक्टूबर 2014 को किया गया ।

इस मीष्शन के माध्यम से सरकार देश को पूरी तरह से साफ करना चती है और देश की सारी नदियों को साफ करना चाहती है  ताकि देश को सुंदर बना जाए और रोग रहित भी बनाया जाए ।

10,28,67,271 हाउसहोल्ड टॉयलेट्स बनाए गए है इस योजना के तहत 2 अक्टूबर 2014 से आजतक ।

6,03,175 open defection free villages 

706 open Defection free districts 

36 open Defection free state / UTs  

63.3 % of rural population practicing 
 SLWM ( ODF plus ) 

Source.. narss 2018-  2019 


स्वच्छभारत अभियान निजी जीवन मै भी बहुत अधिक महत्व रखता है 


वैसे तो यह अभियान अधिकारी रूप से 1990 से चला आ रहा है । 
पहले शुरू मै इसका नाम ग्रामीण सवच्छता अभियान था ,लेकिन 1 अप्रैल 2012 को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने इस योजना का नाम बदल कर निर्मल भारत अभियान रख दिया था और बाद मै इसका पुनर्गठन कर के इसका नाम पूर्ण  सवच्छता अभियान कर दिया था स्वच्छ भारत अभियान के रूप मै 24 सितम्बर 2014 को केन्द्रीय मंत्रिमण्डल से इसको मंजूरी मिल गई ।

इस अभियान कि शरुआत नरेंद्र मोदी जी ने राजघाट से कि गांधी जी की 150 बी जयंती पर और कहा था कि देश की सफाई की जिमेदारी केवल सफाई कर्मचारी की नहीं है ।
कया नागरिकों की इस मै कोई ज़िमेदारी नहीं है हमें इस मानसिकता को बदलना होगा  
प्रधान मंत्री जी ने लोगो मै जागरूकता फैलाने के लिए खुद भी दिल्ली की बाल्मीकि बस्ती मै झाड़ू लगाई थी । 

स्वच्छभारत से जुड़ा था महात्मा गांधी जी का सपना ।

गांधी जी एक साफ सुथरे भारत का सपना हमेशा देखते थे उन्होंने भारत को एक साफ सुधरा देखने का सपना देखा था उन्होंने भी अपने सपने को पूरा करने के बहुत से प्रयास किए थे पर वो उस मै सफल ना हो सके ।
इसी लिए बापू की सोच को भारत सरकार हकीकत मै बदलना चाहती है और इसकी आवश्कता भी बहुत जायदा है । 

स्वच्छभारत अभियान के कुछ उदेश्य 


. इस अभियान का उद्देश्य यह है कि हमारा पूरा भारत साफ हो 

. लोगो को बाहर खुले मै शौच करने से रोका जाए 

. भारत के हर घर मै चाहे शहरों या गावो हर घर मै शौचालय हो । 

. हर एक गली मै एक कचरा पात्र हो जिसे शायद अपने भी अपने गली माहौल मै देखा हो 

. लोगो की मानसिकता को बदलना उचित सफाई का प्रयोग करना । 
. शौचालय उपयोग को बढावा देना 

. सड़के  फुटपत्त को साफ रखना 

. साफ सफाई के बारे मै सबको जागरूक रखना आदि।

6. मैक in India

 यह भी मोदी जी की एक महवपुर्ण योजना मै से एक है  इस योजना की शुरुआत 25 सितम्बर 2014 को किया गया था ।
इस योजना के तहत विदेशी निवेशकों को भारत मै निवेश करने का अवसर दिया जा रहा है ।

भारत मै रोजगार को बढ़ाने के लिए यह एक  प्रयास किया गया है इस योजना को नए दिल्ली के विज्ञान भवन से शुरू किया गया  था। अर्धव्यस्था को आगे ले जाने के लिए यह एक बेहरीन कदम उठाया गया था भारतीय प्रधानमंत्री द्वारा यह विदेशी निवेशकों के लिए एक आवाहन है की वो आए और भारत मै निवेश करे और ynha के व्यापार और रोज़गार को बढ़ाए ।

इस योजना के माध्यम से पी एम सीधे विदशी निवेशकों को भारत मै निवेश करने का आवाहन कर रहे है दिल्ली मै हुए इसकी पहली मीटिंग्स काफी अच्छी रही जिसमे की मुकेश अंबानी केसे बड़े बिजनेस मेन भी थे 

भारत चाहता है कि विदेशी कंपनी ynha पर निवेश करे ताकि देश मै रोजगार बड़े और देश विकास करे ।

इस अभियान को सफल बनाएं के लिए मोदी जी ने 500 कंपनियों के सी ई आे से मुलाकात की जो कि काफी सफल रही 

मैक इन इंडिया के क्या बेनिफिट हो सकते है 


. देश की विकास दर तेज होगी 

. नौकरियां बढ़ेगी 

. और अधिक विदेशी निवेशक भारत की और निवेश करने के लिए आकर्षित होंगे 

. भारत पर निवेश होगा 

किन किन सेक्टर पर निवेश किया जा रहा है ।


. ऑटोमोबाइल

.  ऑटो कंपोनेंट 

. एविएशन

. बायो टेक्नोलॉजी

. केमिकल

. कंस्ट्रक्शन

. डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग

. इलेकट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग

. इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम डिज़ाइन एंड मैन्युफैक्चरिंग 

. फ़ूड प्रोसेसिंग 

. आई टी एंड बी पी एम 

. लैदर

. मीडिया एंड एटरटेनमेंट

. माइनिंग

. ऑयल एंड गैस

. पोर्ट

. रेलवे 

. रेनेवाबल एनेजी

. स्पेस

. टेक्सटाइल

. थर्मल पॉवर

. टूरिज्म 

. वैलनेस

7.प्रधानमंत्री उच्वल योजना ।

प्रधानमंत्री उज्वल योजना मोदी सरकार द्धारा संचालित योजनाओं में से एक है जिसकी शुरुआत 1  मई 2016 को की गई थी ।
इस योजना का लक्ष्य हर घर मै एल पी जी गेस को पहुंचना है । इस योजना के तहत देश भर के 8 करोड़ लोगो तक गेस पहुचनाने का लक्ष्य भारत सरकार ने रखा है 
इस योजना की शुरूआत यू पी के बलिया नामक जगह से मोदी जी ने कि थी ।

इस योजना के तहत सरकार गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों को मुफ्त मै गेस दे रही है जो की एक बहुत अच्छी योजना है जिस से प्रदूषण काम होगा जो कि लकड़ी वाले चूल्हे से होता है । 

इसके साथ साथ पर्यावरण का नुकासन भी काम होगा जो ना चाहते हुए भी गरीबी को खाना पकने के लिए लकड़ी का प्रयोग करना पड़ता था इस योजना का लाभ उठा कर अब लोग तोड़ा लकड़ी जलाना काम कर सकते है अगर छोड़ नहीं सकते हैं
 तो कुछ मात्रा मै तो कम कर सकते है 

साथ ही साथ कुछ जगह जन्ह लकड़ी आदि काम होती है vnha लोग गोबर के उपले का उपयोग करते है तो महिलाओ के स्वास्थ के लिए हानि कारक है । इसका सीधा लाभ घर की महिलाओ को मिलेगा 
इसके साथ ही ग्रामीण इलाकों को इस तरह से साफ सुथरा भी रखा जा सकता है ।

कोन उठा सकता है इस योजना का लाभ।


बर्ष 2011 गणना के अनुसार को परिवार बी पी एल परिवार कि रुचि मै आता है उन्हीं परिवार को इस योजना का लाभ मिलेगा इस तरह से पूरे देश मै 8 करोड़ परिवार को लाभ पहुंचाने का उद्देश्य मोदी सरकार का है ।


योजना के लिए आवेदन केसे करे 

. इस योजना के तहत लाभ लेने के लिए बी पी एल परिवार कि मुख्य महिला आवेदन कर सकती है ।इसके लिए आपको के वाई सी फॉर्म भर कर नज़दिगी एल पी जी केंद्र मै देना होगा ।

. आपको दो पेज का आवेदन फार्म भर कर और उसके साथ मांगे गए सारे दस्तावेज़ भी जमा करने होगे 

 . डक्युमेंट कोन से लगेगे 

       
          .  आपका बी पी एल कार्ड 
          . आधार कार्ड , वोटर कार्ड 
         . पासपोर्ट साइज फोटो 
           . राशन कार्ड की कॉपी
         . L I c पालिसी अगर है , बैंक सत्तेमैंट
         . बी पी एल सूची मै नाम की फोटो कोपी

Knh पर मिलेगा फॉर्म  

 इसके लिए आप फॉर्म अपने नजदीकी एल पी जी केंद से के सकते है या फिर इनकी ऑफिशियल वेबसाइट से निकाल कर ले सकते है । ध्यान रहे पूरा फॉर्म प्रिंटआउट निकले । 

PmuY योजना से कया कया लाभ मिलेगा 


. महिलाओ को धुएं से छुटकारा मिलेगा जिस से उनका स्वास्थ्य ठीक रहेगा ।

. हमारा वातावरण साफ सुथरा रहेगा 

.प्रदूषण मै कमी आएगी जिस से सभी को लाभ मिलेगा।

. छोटे बच्चो के स्वास्थ मै कमी आएगी

. हमारे आस पास पे पेड़ बचे रहेंगे ।

कुछ अन्य ज़रूरी बाते गेस कनेक्शन पाने के लिए।

- आवेदक का नाम 2011 की गणना मै होना चाहिए 

- आवेदक घर मै से महिला होनी चाइए यह योजना पुरुष के नाम नहीं है केवल महिलाओं के नाम पर गेस मिलेगी।

- महिला बी पी एल परिवार मै से होनी चाहिए ।
- आवेदक के परिवार मै पहले से कोई गेस कनेक्शन ना हो 


8. सांसद आदर्श ग्राम योजना 

 सांसद आदर्श ग्राम योजना  की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने 11 अक्टूबर 2014 मै की थी यह योजना मुखायतः गावो के विकास के लिए शुरू की गई थी कि गावो का विका स किस तरह से किया जाए ।
इस योजना के मध्यम से सभी सांसद को भारत का कोई एक गावो लेना था और वनाह का विकास करना था । 

इस योजना के अंतर्गत गावो के हर क्षेत्र का विकास कार्य करना होता है फिर चाहे वो खेती ही या पशुपालन ही , कुटीर उ्योगों मै से कुछ हो रोजगार आदि कुछ भी इसके अन्तर्गत आता है 

सांसदों को इस प्रकार से होती है फंडिंग 


आदर्श सांसद योजना के तरह एम पी को गावो मै विकास कार्य करने होते है जिसके लिए सरकार उन्हें फंड मुहैय्या करती है ।
इनमे से इंदिरा आवास योजना के माध्यम से फंड दिया जाता है जिसमें को गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवार को घर बनाने के लिए आर्थिक सहायता दी जाती है । 
और इसके साथ साथ मनरेगा के तहत भी गावो के विकास के लिए फंड दिया जाता है । 
इसके अलावा सांसदों को और भी बहुत से फंड दिए जाते है इस योजना के तहत गावो के विकास के लिए ।

आदर्श सांसद योजना मै इन कामों को किया 

जाना है

- किसानो की मदद करना कृषि मै ।
- स्कूल का निर्माण करना 

- पंचायत भवन आदि का निर्माण करना 

- गोबर गेस के लिए सार्वजनिक पलांट लगाना 

- गर्भवती महलाओं के लिए पोषक आहार की व्यवस्था करना 

- मेड डे मील की गुणवत्ता बढ़ाना 
-

इस योजना का सीधा सा मकसद है कि भारत वर्ष के हर गावो को बेहतर बनाना है देश के सभी गावो का पूर्ण विकास करना है।
साथ साथ हर गावो मै सरकार द्वारा चलाई गई योजनाओं का लाभ गावो के लोगो तक पहुंचे इसके लिए हर एक सांसद को इसकी जिमेदरी दी गई है ।
मोदी सरकार ने हर एक सांसद को एक गावो गोद लेने को कहा है और उस गावो का पूर्ण विकास करना है ।


9. बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना ।


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी की योजनाओं मै से यह भी एक बेहतरीन योजना है ।
इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने हरियाणा के पानीपत से 22 जनवरी 2015 को की गई थी ।

इस योजना के तहत शुरू मै 100 करोड़ रुपए देश के अलग अलग 100 जिलों के लिए मंज़ूर किए गए थे ।

भारत मै बाल लिंग अनुपात 2011की गणना के अनुसार 1000 लडको पर केवल 918 लडकिया थी ।इसी बात को ध्यान मै रखते हुए मोदी सरकार ने इस योजना की शुरुआत की थी जो की भारत सरकार द्वारा चलाई गई वह तो महत्वकांक्षी योजनाओं मै से एक है ।

अगर हम जिला स्तर पर बात करे तो 640 जिलों मै से 429 जिले ऐसे है jnha लड़कियों की संख्या लडको से कम है यानी लिंग अनुपात कम है जो कि बहुत शर्म कि बात है क्यूंकि ऐसे भी लोग है जो कन्या की भ्रूण हत्या कर देते है को की कानूनी गलत है और अपराध भी है ।

इसी स्थिति को देख कर भारत सरकार ने इस योजना का शुभारंभ किया था ताकि लोग जागरूक हो और बेटी को बचाएं और उनको पढएं ।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के मुख्य उद्देश्य 


- कन्या भ्रूण हत्या को रोकना 

- कन्या को सुरक्षा और समृद्ध करना

- बलिकायो को शिक्षित करना 

- लोगो को जागरूक करना 


योजना के कुछ मुख्य लाभ 


 . इस योजना के माध्यम से बेटी के जन्म से लेकर 14 बर्ष तक की आयु तक बैंक कहते मै पैसे जमा करने होंगे जो आपको 21 बर्ष पूरे होने पर मिले गे । बेटी की उमर 18 वर्ष पूरी होने पर आप 50%राशि को बेटी की शादी या पढ़ाई के लिए निकाल सकते है  
और जब आपकी बेटी की उम्र 21 बर्ष ही जाएगी तो आपको पूरी राशि मिल जाएगी 


- माना आप हर महीने बेटी के खाते मै 1000 रुपए जमा करते है यानी एक साल का 12000 रुपए जमा हो गए 

- तो आप इस तरह 14 बर्ष मै बेटी के खाते मै 1,68,000 जमा करवाए है ।

उसके बाद जब आपकी बेटी की उम्र 21 बर्ष पूरी हो जाती है और आपकी योजना भी पूरी हो जाती है उस समय आपके जमा किए हुए 1,6,8000 रुपए के बदले आपको  6 लाख 7हज़ार 1 सौ 28 रुपए दिए जायेगे । इस तरह आप इस योजना का लाभ उठा सकत है ।आपको सिर्फ 14 बर्ष तक पैसे जमा करवाने है उसके बाद नहीं ।

योजना का लाभ केसे लेे 


 अगर आप इस योजना का लाभ लेने के लिए आप कोई फॉर्म  खोज रहे है तो तोड़ा संभल कर ऑनलाइन आपको ऐसे बहुत सी साइट मिल जाएगी जो आपको फॉर्म देने का दावा करनी है वो सभी फर्जी साइट है ।

इस योजना का लाभ हम केवल सुकन्या योजना के तहत लेे सकते है ।
यह योजना 2014 मै शुरू की गई थी  इस योजना के तहत 10 बर्ष के नीचे लड़कियों के खाते खोले गए थे आप इसी योजना के तहत इस योजना का लाभ उठा सकत
 है और उसके लिए आपको नजदीकी बैंक मै जाना पड़ेगा 
और vnha जा कर फॉर्म भरना पड़ेगा तभी आप इस योजना का सीधा लाभ उठा सकते है ।

- कुछ विशेष कागजात जो बैंक द्वारा मांगे जाएंगे 


. SSy  खाता खुलवाने का फॉर्म जो बैंक से ही मिलेगा 

. आवेदन करता बालिका का जन्म प्रमापत्र 

. माता पिता का एड्रेस प्रूफ 

 . माता पिता का पहचान पत्र 

. फोटो कॉपी दो

इस तरह से आप बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का लाभ ले सकत है आप किसी वेबसाइट या किसी एजेंट के झांसे मै ना आए की हम आपको केसे दिलाएंगे आदि यह सब धोखेबाज लोग है इसका लाभ आपको सिर्फ और सिर्फ सरकारी बैंकों से मिलेगा इसलिए आप अधिक जानकारी के लिए अपने नजदीकी बैंक मै जाए और योजना का लाभ उठाए ।


10. प्रधानमंत्री कोशल विकास योजना 


प्रधानमंत्री कोशाल विकास योजना मोदी जी द्वारा चलाई गई एक योजना है जिसकी शुरुआत 15 जुलाई 2015 को की गई थी । इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश से बेरोजगारी को दूर करना है 

मैक इं इंडिया के तहत इस योजना के द्वारा देश से बेरोजगारी को दूर करने के लिए इस योजना का शुभारंभ किया। गया है ।
देश मै बहुत से युवा बेरोजगार है और वो आगे बढाना चाहते है उनके लिए सरकार से यह एक अच्छा विकल्प रखा है ताकि वो अपने सकिल को बड़ा सके और कोई तकनीकी ट्रेनिंग के सके ।
इसके साथ यह ट्रेनिंग फ़्री है और और साथ है साथ जब यह पूरी हो जाएगी तब सरकार आपको रिवार्ड के तौर पर धन राशि भी देती है 
ट्रेनिंग पूरी हो के बाद सरकार आपको सर्टिफिकेट भी देती है ।

इसके साथ आपको रोजगार दिलाने मै भी उसके बाद मदद करती है इसके लिए सरकार जगह जगह रोजगार मेले लगाती है ।

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का मुख्य उद्देश्य 


 - इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि देश के सभी बेरोजगारी को रोजगार दिलाने है उन्हें पूर्ण रूप से शिक्षित करना है ।
युवा वर्ग को संगठित कर कौशल को निखार कर उनकी योग्यता अनुसार रोजगार देना है 
इस योजना का सीधर सा मतलब है कि सरकार आपको फ़्री मै टर्निंग करती है और उसके पूरे हो जाने पर आपको कुछ रुपए भी देती है और इस ट्रनिंग की कोर भी फ्रीस नहीं है यह एक दम फ़्री है 

इस योजना के अंदर प्रथम बर्ष मै 24 लाख वर्कर को शामिल किया गया है इसके बाद 2022 तक 40.2 करोड़ यिवायो को इस योजना के तहत जोड़ने का मकसद है ।
इस योजना के अंतर्गत योवायो को लोन दिलाने का भी प्रावधान है ।

कौन कौन इस योजना का लाभ ले सकता है ।


 - सबसे पहले तो ज़रूरी है आप भारत के नागरिक हो तभी आप इस योजना का लाभ ले सकत है ।

- जो युवा नोकरी के योग्य हो काम से कम 10th 12th पास हो ।
- और किसी एक सकिम के तहरीक साल के लिए पंजीकृत हो 

- माना आप 12 बी पास हो या इस से अधिक पड़े हो आप इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन कर सकते है एक बार आपकी ट्रेनिंग पूरी हो गई तो आपको सरकार की तरफ से धनराशि भी दी जाएगी 

केसे आवेदन करे इस योजना का लाभ लेने के लिए 


इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को अपना नाम रजिस्टर करना इस योजना मै आवश्यक होता है ।  इसके लिए आप सरकार की ऑफिकेल वेबसाइट www.pmkvyofficial.org पर जा कर आवेदन कर सकते है 

फॉर्म भरने के बाद आवेदक जिस फिल्ड मै ट्रेनिंग करना चाहता है उसे चुन सकता है इसमें लगभग 40 क्षेत्र दिए गए है जिन मै से आप अपनी रुचि अनुचर कोई भी फिल्ड चुन सकते है । 
आप चाहे तो 3 महीने और 6 महीने या फिर एक साल वाली टर्निंग भी कर सकते है वो आप पर निर्भर है आप को सी करना चाहते है ।

- इसके बाद आपको अपना टर्निंग सेंटर का चयन करना होगा jnha पर आप टर्निंग कर सकते है को की आपके घर के आस पास हो आप उसे चुन सकत h है।


इस योजना से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें ।

- इस योजना के तहत आपको कोई भी फीस नहीं देनी होगी बल्कि कोर्स पूरा होने पर सरकार आपको रिवार्ड के तौर पर धनराशि प्रधान करेगी ।

- इस योजना मै आप 3 महीने 6 महीने और 1 साल का कोर्स कर सकते है जिसको करने के बाद आपको एक सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा जो कि पूरे भारत मै मान्य होगा ।
इस योजना के साथ साथ सरकार आपको रोजगार दिलाने मै भी मदद करेगी जिसके लिए सरकार समय समय पर  रोजगार मेले लगाती है और देश के उन युवाओं को रोजगार दिलाने मै मदद करती है जिन्होंने प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत कोई भी कोर्स किया हो ।


12. सुकन्या समृद्ध योजना 


प्रधानमंत्री मोदी जी ने सुकन्या समृद्ध योजना की शुरुआत 22 जनवरी 2015 को की थी इस योजना के तहत हर कोई अपनी बेटी के नाम पर बैंक मै खाता खोल सकता है जो की 10 बर्ष से नीचे हो और इस योजना का लाभ उठा सकता है ।
इस योजना के तहत खाता खोलने पर बेटी को 9.2 % ब्याज दर मिलेगी जमा किए हुए रुपए पर को आप पर निर्भर है आप कितना पैसा प्रतिमाह जमा करते है ।
और यह खाता और धन राशि टैक्स फ्री रहेगा ।

इस योजना के तहत बेटी की उच्च शिक्षा और शादी के लिए बचत का प्रावधान है ।
इस योजना की शुरुआत सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत की थी। इस योजना मै जमा किए गए पैसे को आप अपनी बेटियो पर उनकी शिक्षा और शादी अप्र खर्च कर सकते है

इन योजनाओं मै आप अधिक ब्याज दर को पा सकते है जो कि नार्मल खातों मै नहीं मिलती है।

केसे खुलवाएं खाते ।


 - इस योजना के अंतर्गत लाभ लेने के लिए खाता खोलने के लिए आपकी बेटी की उमर 10 साल से कम होनी चाहिए । तभी आप इस योजना का लाभ ले सकते है ।

- इस योजना के अंदर शुरू मै आप काम से काम 250 रुपए जमा करने होगे तभी आप इस खाते को खोल सकत h आद मै यह रकम काम जायदा हो सकती है ।

और अधिकतम धनराशि आप एक साल मै 1.5 लाख तक जमा कर सकते है । इस से अधिक राशि आप एक वितिय बर्ष मै आप जमा नहीं कर सकते है ।  

कन्हा से मिलेगा आपको योजना का लाभ 


. इस योजना का लाभ आप किसी भी सरकारी बैंक जो आपके नजदीक हो या फिर आपके आसपास के पोस्ट ऑफिस या कामर्शियल ब्रांच से के सकते है । 
 इस योजना को बेटी की उम्र 18 और 21 बर्ष पूरे होने तक चलाया जा सकता है ।

बेटी की उम्र 21 वर्ष पूरी होने पर यह योजना बंद हो जाएगी और आपको अपना जमा किया हुआ पूरा पैसा व्याज के साथ मिल जायेगा ।
इस योजना के तहत आप बेटी की उम्र 18 होने के बाद उसकी उच्च शिक्षा और शादी के लिए पैसे निकाल सकते है ।
गरीब और मध्य परिवार वर्ग के लिए यह योजना बहुत ही कामगार सिद होगी ।

इस योजना से बेटियो को अच्छी शिक्षा दे सकते है क्योंकि हर कोई अपनी बच्चियों को अच्छी तरह से नहीं उच्च शिक्षा प्रदान नहीं करा सकत है इसलिए वो छोटी छोटी राशि जमा कर के अपने बच्चो को अच्छी शिक्षा दे सकत है 

सुकन्या समृद्ध योजना के अंतर्गत लाभ लेने के लिए आवश्यक डक्यमेंट।


* आवेदक यानी बची का जन्म प्रमापत्र जो 10 साल से कम की हो।

* माता पिता के पहचान प्रत 

* माता पिता का एड्रेस प्रूफ होना अनिवार्य है

* पासपोर्ट साइज फोटो

* सुकन्या समृद्ध योजना का फॉर्म जो आपको बैंक या jnha आप खाता खोल रहे है उनके द्वारा दिया जायगा ।

* बच्ची के माता पिता दोनों भारत देश के वासी हो यानी  भारत के नागरिक हो तभी आप इस योजना का लाभ उठा सकत हो ।

जमा करने के लिए कितनी रकम ज़रूरी है ।


जब आप इस योजना का लाभ उठाने वाले होंगे यानी जब आप खाता खोलने जायेगे पहली बार आपको इस खाते मै 250 रूपए जमा करने आवश्यक है उसके बाद आप 100 रुपए भी का सकते है पर एक वीतिय बर्ष मै एक बार 250 रुपए जमा करना आवश्यक है । 
आप एक बितिय वर्ष मै 1.5 ही अधिकतम जमा कर सकते है इस से जायदा आप एक साल मै जमा नहीं करा सकते है ।

इस योजना के तहत 15 बर्ष तक पैसे जमा कराए जा सकते है शर्त एं है कि बेटी की उम्र 10 कम हो आप जी स उमर से शुरू कर्ज वंहा से आगे 15 साल तक इस योजना मै पैसे जमा करा जा सकता है 

अभी तक दिए गए व्याज दर सुकन्या समृद्ध योजना के अंदर।


* 1 अप्रैल 2014 ,। 9.1%

* 1अप्रैल, 2015, 9.2%

* 1अप्रैल, 2016 से जून 30 2016,। 8.6%

* जुलाई,1, 2016से सितम्बर ,30,2016, ,8.6%

* अक्टूबर , 2016 से दिसंबर 31, 2016 ,8.5%

* जुलाई 1, 2017 से  दिसंबर 31, 2017, 8.3%

*1 जनवरी,2018 से मार्च 31 2018,। 8.1%

* 1अप्रैल 2018,से जून30,2018, 8.1%

* अक्टूबर 1से, December 2018,।  8.5%

*जनवरी 1 2019, से मार्च 31 2019, 8.5%

किन पिस्थितियों पर खाता बंद किया जा सकत है।

अगर खाता घारक की मौत हो जाती है यानी 21 बर्ष से पहले खाता खोलने वाली की मौत हो जाती है ।
इसी स्थित मै बैंक पूरा का पूरा जमा किया गया पैसा व्याज सहित माता पिता को से देती है ।

इसी स्थिति मै माता पिता की बैंक मै मृत्यु प्रमणपत्र दिखाना होता है उसके बाद ही बैंक अपनी कार्यप्रणाली को आगे कर सकती है I

दूसरी स्थित मै बैंक खत धारक अगर लंबे समय से किसी घातक बीमारी का शिकार हो इसी स्थिति मै भी बैंक खाते को बन्द किया जा सकता है ।
मोदी सरकार द्धारा संचालित योजनाओं मै एं यह भी एक अच्छी और महत्वपर्ण योजना है जिसका लाभ हमें उठाना चाइए ।


13. मुद्रा बैंक योजना 

 मोदी सरकार द्धारा संचालित योजनाओं मै से यह भी एक योजना है । इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने 8 अप्रैल 2015 को की थी ।

इस योजना के तहत सरकार 50 हज़ार से 10 लाख तक का कर्चा प्रदान करती है ।
इस योजना के तहत लोगो की अपने कारोबार को शुरू करने के लिए लोन दिया जाता है ।

किसे कितना मुद्रा लोन मिल सकता है


 किस  किस को कितना लोन दिया जाएगा इस योजना के अंतर्गत 
* किशोर अवस्था से निचे वाली को 50 हज़ार तक का लोन प्रदान किया जा सकता है ।

*किशोर को 50 हज़ार से 5 लाख तक का लोन दिया का सकता हैं ।

ऐसे से अधिक उम्र यानी बड़ों को इस योजना के तहत 5 लाख से 10 लाख तक की राशि प्रदान की जाती है ताकि वो अपना कोई व्यापार शुरू कर सके और देश मै बेरोजगारी की संख्या कम हो है

मुद्रा योजना को माइक्रो डेवलवमेंट एंड रीफीइनेस एजेंसी से बनाया गया है इस योजना का मुख्य उद्देश्य छोटे और कुटीर उद्योगों को बढ़ावा देना है ।

कोन सा उद्योग शुरू करने के लिए आप मुद्रा योजना के अंतर्गत  लेे सकता है 


जैसे* 
   जमीन , परिवहन

    सामाजिक एवं व्यक्तिगत सेवाएं

   खाद्य उत्पाद, टेक्सटाइल प्रोडक्यूशन 
  दुकानदार, फल विक्रेता , सब्जी वाला 

  कॉटिग सलोन , ब्यूटी पार्लर 

  ट्रक ऑपरेटर , मशीन ऑपरेटर , लघु उद्योग 

  दस्तकार,  आदि
 आने वाले समय मै और भी क्षेत्र इसमें जोड़े जायेगे ।

और 10 लाख तक मै आने वाले कारोबारियों चाहे ग्रामीण क्षेत्रों के चाहे शहरी क्षेत्रों  के सब इसमें शामिल किए जायेगे और इस योजना का लाभ उठा सकते है ।


सूक्ष्म ऋण योजना।


* क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों अनुसूचित सहकारी बैंकों के लिए पुनवृतिय योजना 

* महिला उद्यमी योजना 

* मिशिंग मध्य वर्गीय योजना 

* सूक्ष्म इकायो के लिए उपकरण बित 


मुद्रा बैंक योजना के लाभ कया है 


 * देश मै बरोगरी काम होगी बहुत से लोगो को रोजगार मिलेगा।
* छोटे छोटे उद्योगों को और अधिक बढ़ावा मिलेगा 

* कुटीर उद्योगों आर्धिक रूप से विकसित होगे यानी शाशक्त होंगे ।

* कम लगता वाला वित 

* घरेलू उत्पाद मै वृद्धि होगी 

इस योजना की कुछ महत्पूर्ण विशेषताएं ।


इस योजना के तहत छोटे उद्योगों को काम व्याज दर पर 50 हज़ार से 10 लाख तक का लोन दिया जाएगा भारत सरकार इस योजना के लिए 20 हज़ार करोड़ रुपए लगाएगी साथ ही इसके लिए 3000 करोड़ रुपए की क्रेडिट गारेंटी रखी गई है।

मुर्दा योजना से लोन लेने के लिए किन किन दस्तावेज की आवश्यकता पड़ती है ।


* फॉर्म जो आपको बैंक द्वारा दिया जाएगा 

* दो फोटो 

* पहचान प्रमाण पत्र / अद्धर आधार कार्ड आदि

* एड्रेस प्रूफ आपका 

* जिसमे आप बिजली का बिल टेलिफोन का बिल आदि भी लगा सकत है या राशन कार्ड भी लगा  सकते हैं।

* अगर आप पिछड़े वर्ग या किसी अनुसूचित जाति मै एं आते है तो उसकी भी एक फोटो कॉपी लगा सकत है ।

अपने कारोबार या उद्योग बिजनेस का प्रमाण आदि भी लगा सकत h अगर आपका पहले से ही कोई काम है ।

यह जानकारी हम आपको खुद खोज कर दे रहे है आप अपने अपने नजदीकी बैंक से संपर्क कर के पता कर सकते है की को को से document लगेगे कया पता आपके राज्य की सरकार कोई और कागजात भी मांग रही हो । 


14. प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना 


प्रधान मंत्री जीवन बीमा योजना  की शुरुआत 9 मई 2015 को भारत सरकार द्वारा कि गई थी । 
इस योजना का लाभ भारत मै  रहने वाला नागरिक लेे सकता है ।
इस योजना के अंतर्गत कोई भी 18 से 50 बर्ष की आयु वाला अपना बीमा करवा सकता है 
इस योजना के तहत  सलाना 330 रुपए का प्रीमियम देकर आप 2 लाख तक का दुर्घटना बीमा करवा सकते है।

यानी अगर आप 18 से 50 बर्ष के है तो आप अपना दुर्घटना बीमा मात्र 330 रुपए प्रतिमाह करवा सकते है  
यानी कि इसका सीधा  लाभ आपके मौत के बाद आपके परिवार को मिलेगा वैसे ऐसा तो किसी के साथ ना हो फिर भी अगर किसी की दुर्धटना मै मौत हो जाए तो इस बीमा के तहत आपके परिवार को 2 लाख का बीमा मिलेगा अगर अपने ये बीमा करवाया है । 

अभी तक के कुछ आंकड़े ।

 31 march 2019 tak ke आंकड़े अनुसार प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना के तहत 5.91 करोड़ से अधिक लोगों ने टर्म प्लान किया है । 
वहीं दूसरी ओर 145763 क्लेम मै से 135212 का भूकतान कर दिया गया है 

क्या है प्रधान मंत्री जीवन ज्योती बीमा योजना की खासियत ।


* इस योजना को लेने के लिए आपको कोई भी मेडिकल जांच की आवश्यकता नहीं है ।

* प्रधानमंत्री जीवन बीमा योजना लेते की आयु 18 से 50 बर्ष है।

* इस बीमा योजना को हर साल renew करना होता है ।इसमें बीमा की रकम 2 लाख ही रहती है ।

* प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के लिए केवल 330 रुपए सालाना देने होंगे जो कि बहुत कम है और हर कोई ऐसे दे सकता है ।

यह रकम आपके बैंक खाते से सीधे ली जाती है । योजना की रकम मै बैंक प्रशाशनिक शुल्क लगाती है इसके अलावा इस पर जी स टी लागू है ।
* कोई भी आदमी इस योजना को एक साल या इस से अधिक साल के लिए चुन सकता है अगर कोई एक बार ही बहुत सालों को चुनता है तो बैंक कहते से अपने आप सलाना प्रीमियम कटता रहेगा 

* आपके खाते से जैसे ही पैसे काट दिए जाते है उसी टाइम से आप इस योजना के अंतर्गत आ जाते है ।

कन्हा से इस योजना का लाभ मिलेगा 


इस योजना का लाभ केवल सरकारी बैंकों से मिलेगा आपको बैंक मै ही इसका फॉर्म मिल जाएगा इसके साथ और कुछ भी नहीं लगेगाआपका बैंक खाता पहले से ही होगा तो vnha पूरी जानकारी होगी आपकी।
प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना का  लाभ लेना चाहते है तो नजदीक के सरकारी बैंक जा सकते है ।


15. किसान विकास पत्र योजना 


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा चलाई गई यह एक बचत योजना है जो कि पोस्ट ऑफिस के माध्यम से चलाई गई है 
किसान विकास पत्र योजना 2019 को केंद्र सरकार द्वारा चलाई गई है 

किसान विकास पत्र योजना पैसा दोगुना करने वाली योजना है इस योजना मै पैसा जमा करने के बाद एक निश्टित समय पर पैसा दो गुना होता है । 

क्या है किसान विकास पत्र योजना 


किसान विकास पत्र योजना एक तरह से भारत सरकार का ब्रांड है । यह पैसा निवेश करने की योजना है इसमें आपको पैसा इन्वेस्ट करने के बाद इन्वेस्ट सर्टिफिकेट भी दिया जाता है । इस योजना को लेने कि शुरुआती घन राशि एक हजार रुपए से शुरू है । 

यह योजना केवल पोस्ट ऑफिस के माध्यम से चलाई जा रही है  


* केसे खरीद सकते है किसान विकास पत्र को * 

इसको बड़ी ही आसानी से ऑनलाइन या ऑफलाइन पोस्ट ऑफिस जा कर खरीदा का सकता है  जो कि बहुत ही आसान है ।
1अप्रैल 2016 से किसान विकास पत्र ब्रांड ऑनलाइन भी मिलना शुरू हो गया है इसके लिए आप पोस्ट ऑफिस की official website par ja skte है । 

इस ब्रांड को आप ऑफलाइन भी आसानी से खरीद सकते है बस आपको पोस्ट ऑफिस जा कर एक फॉर्म भरना होता है उसके बाद आप इस ब्रांड को खरीद सकते है और आप कितने का खरीदना चाहते है वो आप पर निर्भर करता है । 

* इसमें आप नियुंतम 1 हज़ार तक और अधिकतम जितना आप इन्वेस्ट करना चते है कर सकते है इसकी कोई सीमा नही है ।

* इस योजना के तहत 9 साल 5 महीने मै लोगो का पैसा दो गुना हो जाता है देखा जाए तो यह एक बहुत अच्छी योजना है अगर आप इस योजना का लाभ लेना चाहते है तो आज ही ऑनलाइन आवेदन करे या ऑफलाइन पोस्ट ऑफिस मै जा कर किसान विकास पत्र योजना का लाभ ले । 

* इस योजना के अंतर्गत आप अपने खरीदे गए ब्रांड को दूसरो के नाम भी transfer कर सकत
 है यह बहुत ही आसान है आप पोस्ट ऑफिस में जा कर अपने ब्रांड को कभी भी किसी को ट्रान्सफर कर सकते है ।


* आप अपने ब्रण को बीच मै भी कैश का सकते है बस आपके ब्रांड को खरीद के काम से काम 30 महीने होने चाहिए तब आप अपने ब्रांड को जरूरत पड़ने पर भी कैश करा सकते है । 


किसान विकास पत्र योजना भारत सरकार द्वारा चलाई गई एक बेहतीन योजना है इसके माध्यम से कोई भी आदमी अपना पैसा कुछ बर्ष मै दो गुना कर सकता है निवेश करने वाले लोगों के लिए यह सबसे तरीका है ।
और पोस्ट ऑफिस में आपका पैसा सुरक्षित तो रहेगा ही साथ साथ आपको आपके पैसे पर अच्छा खासा ब्याज भी मिल जाएगा ।
तो अगर आप भी भारत सरकार द्वारा चलाई गई किसान विकास पत्र योजना का लाभ लेना चते है तो आज ही अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस जाए या ऑनलाइन आवेदन करे ।


16. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 


प्रधानमत्री फसल बीमा योजना की शुरुआत 13 जनवरी 2016 को की गई थी इस योजना के माध्यम से किसानो को उनकी फसल नष्ट हो जाने पर सरकार द्वारा आर्थिक सहायता देना है ।यह योजना उन किसानो के लिए जरूरी है जो कर्ज लेे कर खेती करते है ।

हर साल प्रकतिक आपदा की वजह से किसानो कि फैसले नष्ट हो जाती है उसी की भरपाई के लिए सरकार ने इस योजना की शुरुआत की है 
जैसे कि बाढ़ तेज बारिश प्ले आंधी आदि से होने वाले नुकसान कि भरपाई के लिए इस योजना को लाया गया है 

* इसके तहत किसानों को खरीप की फसल पर 2 फीसती प्रीमियम और रबी फसलों पर 1.5 % प्रीमियम का भुगतान करना पड़ता है ।

प्राकृतिक आपदा के कारण होने वाले नुकसान के चलते बीमा का प्रीमियम भूत काम रखा गया है ताकि किसानो को पूरी मदद मिल सके है उन पर कोई बोझ ना पड़े । 

* प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना बागवानी और वाणिजयिक फसलों का बीमा भी करती है पर उस के लिए 5% बीमा प्रीमियम देना पड़ेगा । 

* भारतीय कृषि बीमा कंपनी इस योजना को चलती है 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का उद्देश्य 


+ आपदा से हुए फसल के नुकसान कि भरपाई करना और किसानो को आर्धिक् शयता प्रदान करना इस बीमा का मुख्य उद्देश्य है।

+ किसानो की खेती मै रुचि बांए रखना जब फसल खराब हो जाती है तो इसी स्थिति मै हर कोई उगाना छिड़ देता है ताबी उनकी सहायता सरकार करती है ताकि किसान आगे भी खेती करता रहे और किसान की रुचि लगी रहे । 

+ कृषि क्षेत्र मै किसानो को लोन मुहैय्या करना ताकि किसान भी नई तकनीक के साथ फसल बीज सके और अच्छी पैदा वार लेे सके । 

+ किसानो को कृषि मै इनोवेशन एवम आधुनिक तकनीक को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना ।

केसे लेे योजना का लाभ किसान 


- प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से लिए जा सकता है 
ऑनलाइन लेने के लिए आप घर से ही www.pmfby.in पर इस योजना का लाभ ले सकते हैं।

अगर आप ऑफलाइन इस योजना का लाभ लेना चाहते है तो  किसी भी सरकारी बैंक मै जा कर इस योजना के लिए अप्लाई कर सकते है 

योजना का लाभ लेने के लिए कीन किन दस्तावेज की आवश्यकता होती हैं।


- किसान की एक पासपोर्ट साइज की पोटो 

- किसान का आई डी कार्ड  , आधार कार्ड, पैनकार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर कार्ड,पासपोर्ट आदि मै से कोई भी एक ।

- किसान का ऐड्रेस प्रोफ जिसमे राशन कार्ड, आधार कार्ड आदि कोई भी बिजली बिल भी मान्य होगा 

- अपनी जमीन की नकल जिसमे की खसरा नं आदि दिया हो।

- आप खेत मै फसल बिजते है इसका भी सबूत आपको देना होगा क्योंकि खाली जमीन का बीमा मान्य नहीं होगा । 

- और एक रद check lgana भी बहुत ज़रूरी होगा इस से आपके भूकतान की राशि सीधे आपके बैंक खाते मै आएगी । 

* अगर खेत कियारे पे लेे कर फसल बिजी गई है तो खेत मालिक के साथ करार को कॉपी लगाना बहुत ज़रूरी है । 


कुछ ध्यान रखने योग्य बातें - 


 * फसल की बुआई करने बाद 10 दिनों के अंदर आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का फॉर्म भरना होगा ।

* फसल कटने से 14 दिन तक भी अगर आपकी फसल को कोई नुकसान होता है तो भी अपकोबीमा योजना का लाभ मिलेगा ।

* आपको  बीमा की रकम का लाभ तभी मिलेगा अगर आपकी फसल को नुकसान किसी प्राकृतिक आपता की वजह से हुआ हो ।

* दावा भुगतान मैं होने वाली देरी कम करने के लिए फसल काटने की आंकड़े जुटाने एवं उसे साइट पर अपलोड करने के लिए स्मार्टफोन रिमोट सेंसिंग ड्रोन और जी पी एस तकनीक का इस्तेमाल किया गया है ।


* इस तरह से किसान लोग इस बीमा का लाभ ले सकत है 
किसान को इस योजना से तोड़ी बहुत राहत मिल सकती अगर उनकी फसल खराब हो जाती है आपदा के कारण इसलिए सभी किसान भाईयों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत लाभ उठाना चाहिए ।


17. प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना ।


भारत एक कृषि प्रधान देश है। भारत की अर्थवयवस्था कृषि पर निर्भर करती हैं ।
सरकार बहुत सी योजनाएं  किसानो के लिए चलती है जिन मै से एक प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना हैं 

अच्छी फसल उगाने के लिए सबसे पहले उसके लिए अच्छी सिंचाई चाहिए होती है तभी आपकी फसल यानी जो किसान है उनकी फसल बेहतर होगी ।
मौसम टाइम पर ना लगने पर यानी समय पर बारिश ना होने के कारण फैसले खराब हो जाती है जिसके कारण किसानो को बहुत नुकसान झेलना पड़ता है इस नुसकान से बचने के लिए पानी नहरों के। द्वारा खेती तक लाया जाता है ताकि फसल पर सूखे का खतरा कम हो जाए।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना की शुरुआत 1 जुलाई 2015 को की गई थी इस योजना के माध्यम से किसानो को पानी की कमी को पूरा करने का प्रयास भारत सरकार द्वारा किया जा रहा है। 

* इस योजना के लिए 50 हज़ार करोड़ रूपए की राशि 5 सालों के लिए 2015-16 से 2019-2020 निर्धारित की थी।

साल 2018-2019 मै 2600 सौ करोड़ रूपए इस योजना के तहत अलॉट किए गए है ।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के उद्देश्य 


* देश भर के किसानो के लिए सिंचाई  व्यवस्था को मजबूत करना 

* कृषि योग्य भूमि का विकास और विस्तार करना 

* पानी की बर्बादी को कम करना और सही तरीके से खेतों में सिंचाई करना इस योजना का मुख्य लक्ष्य है

* खेती जमीन के पास ही जल स्त्रोत का निर्माण करना 

* परंपरागत जल स्त्रोतों का रखरखाव करना और जलाशय को विकसित करना और उसके पानी को सही रूप से सिंचाई मै उपयोग करना।

* किसानों को वर्षा के पानी को इकट्ठा करने के तरीकों के बारे में समझाना और सिंचाई के प्रयोगों के तरीकों को बदलना ताकि कंपनी से भी अच्छी फसल ली जा सके ताकि भविष्य में सिंचाई के लिए केवल मानसून पर निर्भर नहीं रहना पड़े और सूखा पड़ने पर प्राकृतिक चल स्त्रोत काम आए तभी उन स्त्रोतों की देखभाल इस योजना के तहत की जा रही है। 

* इस योजना का महत्वपूर्ण यह भी है कि सिंचाई के क्षेत्र में निजी निवेशकों को आकर्षित करना ताकि वह किसी जैसे क्षेत्र में निवेश करें और किसानों की आर्थिक हालात इस तरह से थोड़े सुधार में लाई जाए।


* इस योजना का उद्देश्य यह भी है कि किसानों की खेतों के अंदर ही पाइपलाइन प्रणाली का निर्माण किया जाए अन्य झाई के कारणों के लिए प्रोत्साहित किया जाए।


प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना पर की जाने वाली धनराशि।


प्रधानमंत्री कृषि योजना के अंतर्गत देश में व्यक्तियों का विकास किया जा रहा है इस योजना के अंतर्गत 5 वर्षों में 2015 से 2020 बे कुल 50000 करोड़ रुपए की धनराशि खर्च की जाएगी इस राशि का 75 फ़ीसदी खर्च केंद्र  सरकार उठाएगी और 25% खर्च राज्य सरकारों को उठाना होगा और वही ऊंचाई वाले स्थानों उत्तर पूर्व राज्य केंद्र सरकार इस योजना के तहत 90% खर्चा देगी और राज्य सरकारों को केवल 10% का भार उठाना होगा।

18. आयुष्मान भारत योजना ।


 आयुष्मान भारत योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा शुरू की गई महत्वपर्ण योजनाओं में से एक है वास्तव में इस योजना से देश के गरीब लोगों के लिए ₹500000 का सालाना  बीमा मिल रहा है

 इस योजना की शुरुआत 23 सितंबर 2018 को प्रधानमंत्री द्वारा की गई थी ।
परिवार में कोई भी व्यक्ति किसी भी बीमारी के चलते अगर हॉस्पिटल में दाखिल होता है तो इस योजना के तहत उसका इलाज किसी भी सरकारी अस्पताल में 500000 तक मुक्त किया जाएगा।

इस योजना के अंतर्गत 10 करोड़ से ज्यादा परिवारों और 50 करोड़ लोगों का मुफ्त इलाज किया जा सकेगा।

+कैसे होगा चयन आयुष्मान भारत योजना में+

इस योजना के तहत 10 करोड़ परिवार का चयन 2011 की जनगणना के आधार पर किया गया है आधार नंबर से परिवारों की सूची तैयार की गई है

+ केसे पता चलेगा किस-किस का नाम इस सूची में है+

इस योजना के बारे में जानकारी लेने के लिए की आपका नाम सूची में है या नहीं जानने के लिए आप इनकी ऑफिशियल वेबसाइट पर चेक कर सकते हैं साइड में जाकर आप अपना मोबाइल नंबर इसमें डाल सकते हैं और आपको एक ओटीपी आएगा इसकी डालती ही आपको जानकारी मिल जाएगी कि आप इस सूची में है कि नहीं mera.pm.jay.giv.in

* इसके अलावा आप टोल फ्री नंबर पर संपर्क करके भी जानकारी ले सकते हैं यह अपने नजदीकी हॉस्पिटल मैं जाकर इस योजना के बारे में पूर्ण जानकारी ले सकते हैं टोल फ्री नंबर है 14555।

+ आयुष्मान भारत योजना के लिए आपको आधार कार्ड की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि सुप्रीम कोर्ट के अनुसार किसी भी सरकारी स्कीम का लाभ उठाने के लिए आपको आधार कार्ड की जरूरत नहीं है ।

कोन कोन सी बियामरियो का इलाज़ करवा सकेगे।


इस योजना के अंतर्गत परिवार का हर कोई व्यक्ति जो बीमार हो और हॉस्पिटल में एडमिट हो वह सभी तरह की बीमारियों का इलाज इस योजना के तहत करवा सकता है । फिर चाहे उसमें कोई भी बीमारी हो रोगी को हर तरह की दवाइयां हर तरह की जांच हर तरह के ऑपरेशन फ्री में उपलब्ध करवाए जाएंगे बस इलाज का खर्चा सरकार केवल पारसनाथ तक उठाएगी यह योजना देश के हर एक हॉस्पिटल में मुहैया करवाई जा रही है जिसका लाभ सीधे गरीब परिवार को और मध्यवर्गीय परिवार को मिल रहा है इस तरह की योजनाओं से आम जनता को काफी ज्यादा लाभ होता है

- कहां बनाई आयुष्मान भारत कार्ड

+ आयुष्मान भारत कार्ड आप भारत सरकार के अस्पतालों जहां पर आयुष्मान केंद्र खोले गए हैं और लोक मित्र केंद्र मैं भी आप इस योजना के लिए अप्लाई कर सकते हैं आयुष्मान भारत  कार्ड बहुत ही आसान और सरल है।

आयुष्मान भारत कार्ड बनाते समय आपको परिवार में से किसी एक का या घर के मुख्य का आधार कार्ड राशन कार्ड और एक फोटो कॉपी होना आवश्यक है जब आप हॉस्पिटल में एडमिट हो गए तब आप केवल आयुष्मान भारत कार्ड से ही अपना इलाज फ्री में करवा सकते हो उस समय किसी भी अन्य दस्तावेज की कोई भी आवश्यकता नहीं पड़ेगी।


19. स्मार्ट सिटी मिशन।


प्रधानमंत्री द्वारा चलाया गया यह एक योजना है जिसका नाम स्मार्ट सिटी मिशन दिया गया है इस योजना के तहत 100 शहरों का निर्माण किया जाएगा और उन शहरों में सभी आधारभूत सुविधाएं प्रदान की जाएंगी स्मार्ट सिटी मिशन की शुरुआत 25 जून 2015 को प्रधानमंत्री जी द्वारा की गई थी इस मिशन का उद्देश्य देश के 100 अलग-अलग शहरों को आधारभूत सुविधाओं से लैस करना है।

इस मिशन के माध्यम से देश के 100 शहरों को स्वच्छ साफ सुथरा सारी मूल सुविधाएं और शहर का हर तरह से विकास करना है।

स्मार्ट सिटी मिशन के कुछ मुख्य उद्देश्य।

* भारत के 100 शहरों का विकास करना किसने की बुल बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराना है

* स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में इन शहरों में विकास किया जाएगा

*इन शहरों की बिजली पानी जैसी सुविधाएं 24 घंटे दी जाएंगी

* इन शहरों में ऐसे संसाधनों का प्रयोग किया जाएगा जिनसे पर्यावरण को कम नुकसान हो और साथ ही साथ यह शहर प्रदूषण रहित हो स्मार्ट सिटी मिशन केंद्र सरकार द्वारा संचालित योजना है इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा 5 सालों के अंदर 100 शहरों को औसत वित्तीय सहायता दी जाएगी यह उस समय कहा गया था जब 25 जून 2015 को यह स्कीम लांच की गई थी।

 

स्मार्ट शहरों में निम्नलिखित सुविधाएं दी जाएंगी।


+ नागरिकों को सुरक्षा विशेष रूप से महिलाओं बच्चों एवं बुजुर्गों की सुरक्षा पर काम किया जाएगा।

+ पर्यावरण सुरक्षा के ऊपर भी काम किया जाएगा जिससे स्मार्ट सिटी में आपको अच्छा स्वच्छ वातावरण मिलेगा।

+ सुशासन अच्छी शासन व्यवस्था विशेष रुप से ई गवर्नेंस और नागरिक की भागीदारी आदि पर ध्यान दिया जाएगा।

+ स्मार्ट शहरों को अच्छी कनेक्टिविटी और दूसरी इंटरनेट साधनों के साथ जोड़ा जाएगा।

- गरीब और निम्न वर्गों के लिए अच्छे आवास दिए जाएंगे।

+ स्मार्ट सिटी में सार्वजनिक परिवहन सुविधाएं बेहतर की जाएंगी और बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं और बेहतर शिक्षा प्रदान की जाएगी।

+। स्मार्ट सिटी में जन्म और बिजली की पूर्ण आपूर्ति की जाएगी।


20. इंद्रधनुष्य योजना।


इंद्रधनुष योजना भारत सरकार द्वारा चलाई गई एक महत्वपूर्ण योजना है इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 25 दिसंबर 2014 को की गई थी इस योजना के अंतर्गत खास तौर पर बच्चों से संबंधित बीमारियां की रोकथाम के लिए इस योजना की शुरुआत की गई थी जिन बीमारियों में से काली खांसी पोलियो टीवी खसरा हेपेटाइटिस बी डिप्थीरिया टिटनेस आदि

मिशन इंद्रधनुष के तहत कम इतना अच्छा किया गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने एक बैठक की समीक्षा में इस योजना के 90% की कवरेज का लक्ष्य 2020 से घटाकर 2018 कर दिया

+ इस योजना के तहत 500 से अधिक जिलों में लगभग 25 मिलियन  बच्चों को टीका लगाया गया है।

+ वित्तीय budget 2020 मै वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में इंद्रधनुष योजना का जिक्र करते हुए कहा कि इस योजना में 12 नई बीमारियों को शामिल किया गया है साथ ही पांच नए वैक्सीन को भी जोड़ा गया है जिससे कि लोगों को आर्थिक लाभ होगा स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर बनाने के लिए वित्त मंत्री ने अपने बजट में और कई सेवाओं का जिक्र किया उन्होंने स्वास्थ्य सेक्टर के लिए 69 हज़ार करोड़ का आवंटन किया।

+ इस मिशन का मुख्य उद्देश्य है कि सभी बच्चों और गर्भवती महिलाओं को टीजी से सारी टीकाकरण प्रदान की जाए भारत सरकार ने इस योजना की शुरुआत 2014 में मिशन इंद्रधनुष का शुभारंभ करके किया था

+ इसके मुख्य लक्ष्य।

+ मिशन इंद्रधनुष के गैलेक्सी 2 बरस की उम्र के सभी बच्चों और गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण करना और सरकार ने देश के 28 राज्यों में से 200 उच्च जोखिम से पीड़ित जिलों की पहचान की है ताकि वहां पर बच्चों और गर्भवती महिलाओं की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जाए उनका सही समय पर टीकाकरण किया जाए।

+ इससे पहले पूर्ण प्रतिरक्षण कवरेज में विधि सालाना 1% थी जोकि मिशन इंद्रधनुष के पहले दो चरणों के माध्यम से सालाना 6.7% तक बढ़ गई है ।

मिशन इंद्रधनुष गेम चार जनों का आयोजन अगस्त 2017 तक किया जा चुका है तथा 2 पॉइंट 5 3 करोड़ से अधिक बच्चों एवं 68 लाख गर्भवती महिलाओं को टीका लगाया गया है।

टिप्पणी पोस्ट करें